Articles by "sultanpur"


आयोध्या फैसला:जावेद अख्तर ने मस्जिद को मिली 5 एकड़ की जगह में हॉस्पिटल बनाने की सलाह दी है. जावेद अख्तर ने ट्वीट किया, ये बहुत अच्छा होगा अगर 5 एकड़ मिली जगह पर चेरिटेबल हॉस्पिटल बना दिया जाएगा और इसे सभी समुदाय के लोगों का  समर्थन भी मिलेगा.



It would be really nice if those who get the 5 acres as compensation decide to make a big charitable hospital on that land sponsored and supported by the people all the communities .

7,856 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

सालों से चले आ रहे अयोध्या विवाद पर शनिवार यानी 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जगह रामलला को दे दी है. वहीं इसके बदले मुस्लिम पक्ष को 5 एकड़ दूसरी जगह देने के लिए कहा है. अब इस मामले पर फिल्म इंडस्ट्री के दिग्गज कलाकारों की प्रतिक्रिया आनी भी शुरू हो गई है.
गीतकार और लेखक जावेद अख्तर ने मस्जिद को मिली 5 एकड़ की जगह में हॉस्पिटल बनाने की सलाह दी है. जावेद अख्तर ने ट्वीट किया, ये बहुत अच्छा होगा अगर 5 एकड़ मिली जगह पर चेरिटेबल हॉस्पिटल बना दिया जाएगा और इसे सभी समुदाय के लोगों का समर्थन भी मिलेगा.



सुल्तानपुर:  गनपत सहाय पीजी कॉलेज के प्रबंधक विभिन्न  संगठनों में महत्वपूर्ण पदों पर जिम्मेदारी निर्वहन कर चुके डॉ ओम प्रकाश पाण्डेय बजरंगी को वियतनाम में इकोनॉमिक अचीवर्स काउंसिल द्वारा भारत गौरव आवार्ड से सम्मानित किया गया ।

आपको बताते चले कि यह आवार्ड शनिवार को वियतनाम में आयोजित एक कार्यक्रम में इकोनॉमिक अचीवर्स काउंसिल द्वारा 'ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा को बढ़ावा देने' के लिए गोल्ड मेडल और भारत गौरव आवार्ड से सम्मानित किया गया ।


बजरंग दल के पूर्व काशी प्रान्त सयोजक डॉ ओम प्रकाश पाण्डेय "बजरंगी" 1991 में जीटीआई कानपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूर्ण करने के पश्चात भी इंजीनियरिंग जैसे महत्वपूर्ण एवम आर्थिक लाभ से परिपूर्ण में कैरियर न बनाकर सामाजिक,धार्मिक एवं राजनैतिक रूप से पूरी तरह से अपनी सेवा समाज को देने लगे।  इसके पूर्व में अमेरिका के सेंट्रल यूनिवर्सिटी से मानद उपाधि और मास्को के  रूस से वर्ड एनआरआई सम्मान से नवाजे जा चुके हैं डॉ ओम प्रकाश पाण्डेय "बजरंगी"।


उक्त जानकारी ओम प्रकाश पाण्डेय "बजरंगी" के छोटे पुत्र भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष आशीष पाण्डेय ने टेलीफोनिक वार्ता में दी।




सुलतानपुरसुलतानपुर में धारा 144 लागू कर दी गई है जिसका अनुपालन शक्ति से कराया जाएगा।समस्त  जिला वासियों से अनुरोध है कि ग्रुप या समूह में कोई कार्य न करें 2 या 3 से अधिक संख्या में एक स्थान पर एकत्रित न हो।
सोशल मीडिया पर कोई धार्मिक कमेंट ना करें ना ही अफवाह फैलाए और ना ही अफवाहों पर ध्यान दें। यदि आपकी नजर में कोई ऐसा करता पाया जाए तो उसकी सूचना तत्काल पुलिस को दें।

 क्या है धारा-144 

सीआरपीसी के तहत आने वाली धारा-144 शांति व्यवस्था कायम करने के लिए लगाई जाती है. इस धारा को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट यानी जिलाधिकारी एक नोटिफिकेशन जारी करता है. और जिस जगह भी यह धारा लगाई जाती है, वहां चार या उससे ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते हैं. इस धारा को लागू किए जाने के बाद उस स्थान पर हथियारों के लाने ले जाने पर भी रोक लगा दी जाती है.

 क्या है सजा का प्रावधान 

धारा-144 का उल्लंघन करने वाले या इस धारा का पालन नहीं करने वाले व्यक्ति को पुलिस गिरफ्तार कर सकती है. उस व्यक्ति की गिरफ्तारी धारा-107 या फिर धारा-151 के तहत की जा सकती है. इस धारा का उल्लंघन करने वाले या पालन नहीं करने के आरोपी को एक साल कैद की सजा भी हो सकती है. वैसे यह एक जमानती अपराध है, इसमें जमानत हो जाती है.

क्या है दण्ड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी)

दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 (Code of Criminal Procedure, 1973) भारत में आपराधिक कानून के क्रियान्यवन के लिये मुख्य कानून है. यह सन् 1973 में पारित हुआ था. इसे देश में 1 अप्रैल 1974 को लागू किया गया. दंड प्रक्रिया संहिता का संक्षिप्त नाम 'सीआरपीसी' है. जब कोई अपराध किया जाता है, तो सदैव दो प्रक्रियाएं होती हैं, जिन्हें पुलिस अपराध की जांच करने में अपनाती है. एक प्रक्रिया पीड़ित के संबंध में और दूसरी आरोपी के संबंध में होती है. सीआरपीसी में इन प्रक्रियाओं का ब्योरा दिया गया है.


सुल्तानपुर:  शनिवार को सुबह लगभग 10:00 बजे नगर कोतवाली के करीब नीम के पेड़ पर एक युवक ने चढ़कर तहलका मचा दिया चौंकाने वाली बात तो वो युवक फोन से किसी से बात तो कर रहा लेकिन नीचे खड़े लोगों की बातों का कोई जवाब नहीं दे रहा था। ज्यादा देर होता देख बगल कोतवाली की पुलिस और फायर ब्रिगेड मौके पर पहुँच गई और उसे समझाने का प्रयास कर रही थी, लेकिन युवक न ही किसी से कोई बात कर रहा है और न ही किसी के बात सुनने का का ही प्रयास कर रहा था। इस दौरान वहां सैकड़ों की संख्या में तमाशबीन खड़े लोग उसे देख रहे थे। 

पुलिस की कड़ी मस्कत से घण्टो बाद खुदखुशी करने के लिए पेड़ पर चढ़ा युवक उतरा नीचे,युवक को पुलिस शकुशल लाई कोतवाली नगर, कोतवाली नगर के बगल नीम के पेड़ पर खुदखुशी करने को चढ़ा था युवक।


26अक्टूबर2019







सुल्तानपुर/कादीपुर: के विजेथुआ महावीरन धाम पर 51 हजार दीपोत्सव का आयोजन किया गया। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शंकर शुक्ला शामिल होने पहुंचे। इस दौरान आरती और भजन का भी आयोजन किया गया। विदित हो अयोध्या में पांच लाख दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया था इसी कड़ी में सुल्तानपुर के सूरापुर स्थित बिजेथुआ महावीरन धाम में 51 हजार दीपोत्सव का आयोजन किया गया।जहां देर शाम मकरी कुंड में 51 हजार दीप प्रज्वलित किए गए ये आयोजन भाजपा के प्रदेश महामंत्री सर्वेश मिश्रा (पूर्वांचल प्रकोष्ठ हरियाणा)के नेतृत्व में किया गया।


कार्यक्रम का संचालन कर रहे भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शिवकांत मिश्रा ने आगंतुक विशिष्ट अतिथि एवम मुख्य अतिथियो का परिचय कराया। कार्यक्रम की सुरुआत अंजीनी लला हनुमानजी जी के पुष्पार्जन एवं द्विपार्जन से हुआ।
वही इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शंकर शुक्ला शामिल होने पहुंचे। जहां राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शंकर शुक्ला का माल्यार्पण कर उन्हें साल, स्मृति चिन्ह, और बजरंग बली हनुमान जी का गदा आयोजक सर्वेश मिश्रा द्वारा भेंट किया गया जिसके बाद काशी के ज्योतिषाचार्य आचार्य विनय शास्त्री एवम उनके शिष्यों के द्वारा काशी के गंगा आरती के तर्ज पर आरती की गई।

कार्यक्रम की तैयारी की झलक
 अपने उदबोधन में विशिष्ट अतिथि भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने बताया कि अयोध्य वह स्थान है जहां कालिनेमि का वध किया गया था।कालिनेमि का उल्लेख रामचरित मानस के लंका कांड में है।लक्ष्मण जब मेघनाथ द्वारा मारे गए शक्तिबाण से मूर्च्छित हो जाते हैं तो हनुमानजी सुषेन वैद्य की सलाह पर धौलागिरी की ओर संजीवनी बूटी लाने के लिए प्रस्थान करते हैं। रावण द्वारा भेजा गया मुनि वेशधारी कालिनेमि राक्षस हनुमानजी का मार्ग अवरुद्ध करता है। कालिनेमि रचित सरोवर आश्रम को देख हनुमानजी की जल पीने की इच्छा हुई। हनुमानजी के सरोवर में प्रवेश करते ही अभिशापित अप्सरा मकरी के रूप में, ने उनका पैर पकड़ लिया। मकड़ी ने कालिनेमि का रहस्य बताते हुए हनुमानजी से कहा,  मुनि न होई यह निशिचर घोरा। मानहुं सत्य बचन कपि मोरा।।’  ऐसा कहकर मकड़ी लुप्त हो गई। और हनुमान जी मायावी राछस कालनेमि का वध कर संजीवनी बूटी लाने चले गए।यही कालिनेमि रचित सरोवर बिजेथुआ महाबीरन के रूप में प्रसिद्ध हुआ।
उन्होंने यह भी बताया कि जब हम लोग छोटे छोटे थे तो अपनी माता जी के साथ मानता पूरा करने के लिये यहाँ आते थे।विशिष्ट अतिथि प्रेम शुक्ला द्वारा बीच बीच मे अवधी भाषा का प्रयोग करना अये हुये हजारों भक्त जनों का मन मोह लिया।
हनुमान जी का दर्शन करते भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शुक्ला

       इनसेट 
क्या कहते है आयोजक सर्वेश मिश्रा?
कार्यक्रम के आयोजन के सापेक्ष मिडिया से बातचीत में आयोजक BMS ग्रुप के चेयरमैन,भाजपा के प्रदेश महामंत्री(पूर्वांचल प्रकोष्ठ हरियाणा) सर्वेश मिश्रा ने बताय कि जिस तरह पुत्र के पराक्रम से पिता आनंदित होता है, शिष्य से पराभूत होने में गुरु गौरव का अनुभव करते हैं, उसी तरह भक्त की महिमा वृद्धि में प्रभु प्रसन्नता का अनुभव करते हैं।रामचरित मानस का उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि हनुमान जी माता सीता जी की शोध करके जब वापस आए तब श्री राम कहते हैं- 'हनुमान! तेरे मुझ पर अगणित उपकार हैं, इसके लिए मेरे एक-एक प्राण निकालकर दूँगा तो भी कम होगा क्योंकि तेरा प्रेम मेरे लिए पंचप्राणों से भी अधिक है, इसलिए मैं तुझे सिर्फ आलिंगन ही देता हूँ-  'एकैकस्योपकारस्य प्राणान्‌ दास्यामि ते कपे।'  राम कहते हैं कि हनुमान ने ऐसा दुष्कर कार्य किया है कि लोग जिसे स्वप्न में भी नहीं कर सकते।ऐसे में परम् भक्त अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता हनुमानजी के जन्मोत्सव के बीना अयोध्या में मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्री राम जी के आगमन का द्वीपोत्सव अधूरा है, इसीलिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। 

वहीं इस आयोजन में कादीपुर विधायक राजेश गौतम, सदर विधायक प्रतिनिधि रूपेश सिंह, जिला अध्यक्ष जगजीत सिंह छंगू, पूर्व जिला अध्यक्ष करुणा शंकर मिश्रा, वरिष्ठ सर्जन समाजसेवी डॉ ए के सिंह,संजय सिंह त्रिलोकचंदी, संदीप अग्रहरी,डॉक्टर अरुण कुमार सिंह,जीवन द्वीप राय,राजीव तिवारी, शिवकांत मिश्रा,सुनील श्रीवास्तव, अनिल पाण्डेय, शेषमणि मौर्य, शुभम सिंह,विनोद पांडेय, समेत हजारों की संख्या में संभ्रांत लोग मौजूद रहे।
इस पूरे कार्यक्रम में जहाँ हजारों की संख्या में हनुमानजी के भक्तों का जमावड़ा लगा था वही कादीपुर के कोतवाल द्वार बहुत ही सूझ बूझ से पूरे व्यवस्था को संभाला गया जिससे कार्यक्रम पूरी तरह से सफल रहा।





सुल्तानपुर: नगर के कादीपुर तहसील मे स्थित पौराणिक स्थल विजेथुआ महावीरन मे दीपावली की पूर्व संध्या यानी 26 अक्टूबर को सायं 3:00 बजे से येतिहासिक हनुमान जन्मोत्सव का आयोजन किया जाना है। इस ऐतिहासिक कार्यक्रम मे अंजनी लला की आरती 51 हजार द्वीपो से काशी के तर्ज पर गंगा आरती के साथ-साथ भव्य भजन संध्या का आयोजन होना सुनिश्चित हुआ है।
BMS ग्रुप के डायरेक्टर और भा•ज•पा के प्रदेश महामंत्री (पूर्वान्चल प्रकोष्ट हरियाणा) और कर्यक्रम के आयोजक सर्वेश मिश्रा ने टेलीभोनिक वार्ता मे बताया की कार्यक्रम मे होने वाली हजारो की संख्या के लिए सारी तैयारी युद्ध स्तर पर है।

आइये जानते है विजेथुआ महावीरन के बारे मे

 सुल्तानपु: सुल्तानपुर में एक ऐसी जगह है जहां की मान्यता है कि इसी स्थान पर हनुमान जी ने राक्षस कालनेमि का वध किया था। यह जगह आज एक सिद्ध पीठ के रूप में मशहूर है। इस प्रसिद्ध मंदिर के बारे में ये भी मान्यता है कि यहां मांगी गई हर मुराद पूरी होती है। यहां वो तालाब भी है जहां हनुमान जी ने कालनेमि के वध से पहले स्नान किया था। यहां दूर-दूर से लोग दर्शन करने के लिए आते हैं। जिले की कादीपुर तहसील में विजेथुवा महावीरन नाम से हनुमान जी का मंदिर रामभक्ति और वीरता का प्रतीक है। पुराणों में उल्लेख है कि इसी स्थान पर हनुमान जी ने कालनेमि राक्षस का वध किया था।
  जमीन में धंसा मूर्ति का एक पैर
मंदिर प्रागण मे स्थित हनुमान जी की प्रतिमा

मंदिर में स्थित हनुमान जी की मूर्ती इस मंदिर की प्राचीनता का प्रमाण है। मूर्ति का एक पैर जमीन में धंसा हुआ है, जिसकी वजह से मूर्ति थोड़ी तिरछी है।
पुरातत्व विभाग ने मूर्ति की प्राचीनता जांचने और पुजारियों ने मूर्ति को सीधा करने के लिए उसकी खुदाई शुरू कराई। लेकिन 100 फिट से अधिक खुदाई कराने के बाद भी मूर्ति के पैर का दूसरा सिरा नही मिला। जिसके बाद इस मंदिर को चमत्कारी माना जाने लगा।

  कालनेमि ने यहीं रोका था हनुमानजी का रास्ता

रामायण में इस स्थान का जिक्र है कि जब श्रीराम और रावण के बीच चल रहे युद्ध में लक्ष्मण जी को बाण लगा और वो मूर्छित हो गए तो वैद्यराज सुषेण के कहने पर हनुमान जी संजीवनी बूटी लाने के लिए हिमालय की तरफ चले।
हनुमान जी संजीवनी बूटी लाने में असफल हो जाएं इसके लिए रावण ने अपने एक मायावी राक्षस कालनेमि को भेजा, ताकि वो रास्ते में ही हनुमान जी का वध कर दे।
कालनेमि मायावी था और उसने एक साधु का वेश धारण कर रास्ते में राम-राम का जाप करना शुरू कर दिया। थके-हारे हनुमान जी राम-राम धुन सुन कर वहीं रुक गए।।

यहां हनुमान जी ने किया था पोखर मे स्नान
                प्रागण मे स्थित पोखर मकडी कुड
रामायण के अनुसार साधू के वेश में कालनेमि ने हनुमान जी से उनके आश्रम में रुक कर आराम करने का आग्रह किया। हनुमान जी उसकी बात में आ गए और उसके आश्रम में चले गए।उसने हनुमान जी से आग्रह किया कि वह पहले स्नान कर लें उसके बाद भोजन की व्यवस्था की जाए। हनुमान जी स्नान के लिए तालाब में गए ।

यहां हनुमान जी ने किया था कालनेमि का वध...

 जब हनुमान जी इस मकरी कुंड में स्नान कर रहे थे तो कहते हैं कि कालनेमि मगरमच्छ का रूप धारण कर इस कुंड में घुस आया और हनुमान जी को खा जाना चाहा।
हनुमान जी से उसका भीषण युद्ध हुआ और हनुमान जी ने इसी कुंड में उसका वध कर दिया। कालनेमि के वध के बाद हनुमान जी सीधे संजीवनी लेने हिमालय की ओर चले गये ।

आज भी मौजूद है पोखर मकडी कुड



जिस तालाब में हनुमान जी ने स्नान किया था वो आज भी मौजूद है। आज इस तालाब का नाम मकरी कुंड है। लोग मंदिर में दर्शन करने के पूर्व इस कुंड में स्नान करते हैं।बताया जाता है कि इस कुंड में स्नान करने से लोगों के पाप कम हो जाते हैं।

शोभा यात्रा का दृश्य
सुल्तानपुर: रविवार 6अक्टूबर2019
विश्वहिंदू परिषद के बैनर तले रविवार को रमलीला मैदान विद्यालय से दुर्गा वाहिनी की शाेभा यात्रा निकाली गई।   शोभायात्रा शहर के विभिन्न मार्गो जैसे ठठेरी बाजार, सब्जी मंडी,बसस्टैण्ड,पंचमौखी चौराहा शाहगंजचौराहे का परिभ्रण कर वापस विद्यालय पहुंची । शोभायात्रा का नगर के लोगों ने स्वागत किया। इस दौरान दुर्गा वाहिनी की सदस्यों ने शस्त्र पूजन दुर्गा चालिसा का पाठ किया।

आदि शक्ति मा दुर्गा का पूजन करती दुर्गा वाहिनी की मातृ शक्ति
कार्यक्रम का प्रारम्भ आदि शक्ति मा दुर्गा जी के पूजन एवम् दुर्गा चालिसा पाठ से प्रारम्भ हुआ। इस मौके पर जिला संयोजिका प्रीती उपाध्याय ने बताया कि दुर्गा वाहिनी की स्थापना 1984 में हुई था। यह विश्व हिंदू परिषद का एक विंग है। इसके माध्यम से हिंदू बहनों को एकत्रित किया जाता है।  सभी बहनें और माताएं मां दुर्गा का रूप होती हैं। किसी भी कार्य को करने से पहले मां का आशीर्वाद अवश्य लेना चाहिए। इस यात्रा से लोगों को यह संदेश दिया गया है कि महिलाएं भी आज पुरूषों की अपेक्षा कहीं आगे है। दुर्गा का दूसरा रूप माताएं होती है। नवरात्र के अवसर पर नौ दिनों का अखंड पाठ किया जाता है और नवमी के दिन 11 महिलाओं को मां दुर्गा समझ कर पांव धोकर प्रसाद दिया जाता है और आशीर्वाद लिया जाता है। 


  शोभा यात्रा का स्वागत करते प्रान्तीय सुरक्षा प्रमुख
कार्यक्रम की इस मधुरिम बेला मे शुभनारायन वीएचपी प्रान्त अध्यक्ष काशी प्रान्त, एडवोकेट नागेन्द्र सिह वीएचपी जिला अध्यक्ष, उमाकान्त वीएचपी विभाग संगठन मंन्त्री,आन्नद प्रकाश शुक्ला वीएचपी प्रान्त सुरक्षा प्रमुख,दुर्गा वाहिनी जिला संयोजिका प्रीती उपाध्याय संजय तिवारी, सौरभ पाण्डेय 'मुनी',सुशील सिह ,रमेश दूबे, गोपाल,डा शिव जी,अनुराग उपाध्याय,प्राशान्त गौरव,नरेन्द्र जायसवाल,राजेश्वर सिह समेत सैकडो की संख्या मे मातृ शक्ति समेत हिन्दू जनमानस उपस्थित रहा । उक्त जानकारी विहीप मीडिया प्रभारी शुभम तिवारी ने दी।



                 
                            फाइल फोटो

सुल्तानपुर-अतिवृष्टि से प्रभावित कुडवार ग्राम सभा के पूरे दयाराम( टाणा तिवारी )के अन्तर्गत ओम प्रकाश तिवारी के पशुशाला और भुसैला पर लगातार हो रही बारिष के कारण नीम का विशालकाय वृक्ष गिर गया,जिसके कारण पशुशाला और भुसैला पूरी तरह मलबे में तब्दील हो गया।
भुसैले मे रखा पशुओ का भूसा चारा ,चारा मशीन क्षतिग्रस्त हो गई।घटना के समय पशुओ के बाहर रहने के कारण पशु पूरी तरह सुरक्षित है।पशुशाला और भुसैला के मलबे मे तब्दील हो जाने के कारण पशु भीषण बर्षा के बीच खुले आसमान मे रहने को मजबूर है।अतिवृष्टि के कारण गांव  के कच्चे  मकान गिरने की कगार पर हैं, फसलें भी जलमग्न हो गयी हैं।












सुलतानपुर। भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय  नेतृत्व के आह्वान पर राष्ट्रीय एकता अभियान के तहत आयोजित संपर्क अभियान में सूबे के गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग राज्य मंत्री सुरेश पासी शहर पहुंचे थे। उन्होंने जिले के प्रबुद्ध वर्ग , समाजसेवियो पत्रकारों व प्रख्यात कवि शायर अजमल सुलतानपुरी से मुलाकात की।

मंत्री सुरेश पासी ने 98 वर्षीय प्रख्यात कवि शायर अजमल सुल्तानपुरी के आवास खैराबाद पहुंच कर धारा 370 एवं 35 ए के बारे में विस्तार से बताया। उनके साथ जिला अध्यक्ष जगजीत सिंह छंगू, संयोजक विजय मिश्र, प्रदीप शुक्ला, विजय सिंह रघुवंशी एवं अंकुर सिंह आदि उपस्थित रहे।

इस दौरान राज्य मंत्री श्री पासी ने राष्ट्रीय एकता को पूरी दुनिया में पहुंचाने वाले राष्ट्रीय कवि व शायर अजमल सुलतानपुरी को अनुच्छेद 370 एवं 35 ए समाप्त करने के बाद होने वाले फायदे से संबंधित दो किताबे "एक देश एक संविधान" एवं  धारा 370 एवं 35 ए जम्मू कश्मीर पुनर्गठन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश  उनको भेट की। इस दौरान अजमल सुलतानपुरी ने अपनी कविता "मुसलमाँ और हिन्दू की शान, कहा है मेरा हिंदुस्तान, मैं उसको ढूढ रहा हूँ। मेरे बचपन का हिंदुस्तान न बांग्लादेश न पाकिस्तान, वो पूरा पूरा हिंदुस्तान, मै उसको ढूँढ रहा हूं।

संपर्क अभियान के जिला संयोजक एवं सहकारी बैंक के अध्यक्ष विजय मिश्र के संयोजन में आयोजित संपर्क अभियान में मंत्री सुरेश पासी ने स्वच्छता के क्षेत्र में मिसाल कायम करने वाले गोमती मित्र मंडल के संचालक मदन सिंह एवं  रिटायर्ड सूबेदार जानकी प्रसाद यादव से लंभुआ उनके गांव पहुंच कर संपर्क किया और उनको धारा 370 से संबंधित किताबें सौंपी।इस दौरान सूबे के राज्य मंत्री सुरेश पासी ने बिजेथुआ महावीरन जाकर श्री हनुमान जी के दर्शन किये।



सुलतानपुर - भगवान श्रीकृष्ण पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में नगर कोतवाली में दर्ज हुआ मुकदमा। विश्व हिंदू परिषद के नेता आशीष श्रीवास्तव ने दर्ज कराया नगर कोतवाली में एफआईआर, फेसबुक पर भगवान श्रीकृष्ण के कार्यों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का मामला। जिला अध्यक्ष नागेंद्र सिंह बोले, विहिप कर रहा आरोपी की गिरफ्तारी की मांग। सख्त कार्रवाई नहीं होने पर विश्व हिंदू परिषद करेगा प्रदर्शन। आरोपी महेश कुमार बताया जा रहा भीम आर्मी का नेता।
एक तरफ जहा यह मामला पूरे सोशल मीडिया मे गूज रहा है वही इससे पूरे हिन्दू जन मानस मे आक्रोष है । लोगो के बीच मे बस यही चर्चा का विषय बना हुआ है । विहिप के नेताओ ने कहा कि इस तरह की किसी भी प्रकार की टिप्पडी हमारी धार्मिक भावनाओ को ठेस पहुचा रही है जोकि हर गिज बर्दाश्त नही ।उक्त जानकारी विहिप मीडिया प्रभारी शुभम तिवारी ने दी।





सुल्तानपुर:उत्तर प्रदेश के  सुल्तानपुर स्थित पं राम नरेश त्रिपाठी सभागार  में विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने अपना 55 वां स्थापना दिवस मनाया। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय संगठन मंत्री अम्बरीष जी ने कहा कि 1964 में वीएचपी की स्थापना हुई थी। उन्होंने कहा कि वीएचपी की स्थापना का कारण था देश में सनातन धर्म की स्थापना और राम मंदिर निर्माण।अम्बरीष ने कहा, 'इस लक्ष्य तक पहुंचे बिना हम अपने कर्त्तव्य से पीछे हटने वाले नहीं हैं। वीएचपी राष्ट्र और समाज को एक सूत्र में निरूपित करने के महाअभियान को लेकर चल रही है।

''अस्थाई मंदिर तो कारसेवकों ने बना दिया ,अब भव्यता बाकी' 
अम्बरीष ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि पर कारसेवकों ने अस्थाई तौर पर ही सही मंदिर तो बना ही दिया है, बस उस स्थान को भव्यता देना शेष है। जिसकी प्रतिक्षा हिन्दू समाज लगातार अपनी आहूति देकर करता आ रहा है। आज श्रीराम जन्मभूमि पर विराजमान रामलला को टेंट में देखकर हम सभी को पीड़ा हो रही है। समाज अपने संघर्षों को सदैव स्मरण करेगा और इस महाआंदोलन को तुष्टिकरण की भेंट भी नहीं चढ़ने दिया जाएगा। उन्होंने कहा आज सर्वोच्च न्यायालय में नियमित सुनवाई हो रही है। साक्ष्य श्रीराम लला के पक्ष में हैं। मंदिर निर्माण होकर रहेगा। 

"धारा 370 हटाने" को बताया विस्थापितो की औषधि,"बोला कांग्रेस पर हमला"
अम्बरीषजी ने कहा कि विगत दिनों केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को दफन कर पीड़ित और विस्थापित कश्मीरी पंडितों के घाव में जहां 'औषधि' लगाई, वहीं भारत की एकता अंखडता का सम्मान विश्व में बढ़ाया।इस ऐतिहासिक कार्यो का विरोध वे लोग कर रहे है जिनके पुरखो ने रातो रात इमरजेन्सी लगाकर लोकतन्त्र का कत्लेआम किया।सत्ता का गलत इस्तेमाल किया। इसके दौरान खूब कत्लेआम हुआ। उन्होने बताया कि इनको इन लोगो को आज जब देश के सम्पूर्ण हिस्सो मे एक संविधान एक झंडा की व्यावस्था बन गई है तो वही आज इनको जमूरियत खतरे मे नजर आ रही है। इनको 1990 मे कुछ नही दिखा जब लाखो लोग कश्मीर से अपने घर सम्पत्ति को छोडकर अन्य राज्यो मे शरणार्थियो की तरह जीवन जी रहे थे।आज जब सही मायने मे जमूरियत कि स्थापना हुई, पीड़ित और विस्थापित कश्मीरी पंडितों के घाव में जहां 'औषधि' लगाई, वहीं भारत की एकता अंखडता का सम्मान विश्व में बढ़ाया गया तो इन्हे लोकतंत्र खतरे मे लग रहा है।

 कार्यक्रम का संचालन सोहन लाल ने किया। इस दौरान  शुभनारायन वीएचपी प्रान्त अध्यक्ष काशी प्रान्त, एडवोकेट नागेन्द्र सिह वीएचपी जिला अध्यक्ष, उमाकान्त वीएचपी विभाग संगठन मंन्त्री,आन्नद प्रकाश शुक्ला वीएचपी प्रान्त सुरक्षा प्रमुख, संजय तिवारी, सौरभ पाण्डेय 'मुनी',सुशील सिह ,रमेश दूबे, गोपाल,डा शिव जी,अनुराग उपाध्याय,प्राशान्त गौरव,नरेन्द्र जायसवाल,राजेश्वर सिह समेत सैकडो की संख्या मे हिन्दू जनमानस उपस्थित रहा । उक्त जानकारी विहीप मीडिया प्रभारी शुभम तिवारी ने दी।

                      24अगस्त 2019

सुलतानपुर:  गनपत सहाय महाविद्यालय मे आज डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय क्रीडा परिषद के तत्वाधान मे अन्तर महाविद्यालय टेबल टेनिस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप मे  वरिष्ठ भाजपा नेता महाविद्यालय के प्रबंधक माननीय ओम प्रकाश पाण्डेय "बजरंगी जी" उपस्थित रहे ।इस अवसर पर  बीपीएड विभाग के विभागाध्यक्ष डा रवीन्द्र शुक्ला ने मुख्य अतिथि वरिष्ठ भाजपा नेता महाविद्यालय के प्रबंधक माननीय ओम प्रकाश पाण्डेय "बजरंगी जी" का स्वागत बैच लगाकर किया।


   खिलाडियो का परिचय प्राप्त करते हुए मुख्य अतिथि

इस कार्यक्रम के शुभ अवसर पर वरिष्ठ भाजपा नेता महाविद्यालय के प्रबंधक माननीय ओम प्रकाश पाण्डेय "बजरंगी जी"ने खिलाडियो से हाथ मिलाकर परिचय जाना, और खिलाडियो को बताया कि खेल को हार-जीत कि भावना से नही अपितु खेल की भावना से खेलना चाहिए।


इसके उपरान्त खेल का शुभारम्भ महाविद्यालय के प्रबंधक वरिष्ट भाजपा नेता ओम प्रकाश पाण्डेय बजरंगी के द्वारा टेबल टेनिस  को खेल कर किया गया ।
इस अवसर पर विभाग बीपीएड विभाग के विभागाध्यक्ष डा रवीन्द्र शुक्ला, प्रतियोगिता पर्वेक्षक धीरेन्द्र पुरूषोत्म, निर्णायक प्रमोद सिह यादव,,प्रध्यापक विक्रमादित्य यादव आदि उपस्थित रहे।

18 अगस्त  
सुल्तानपुर:पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद मेनका गांधी ने जिले की twenty three बड़ी व forty two छोटी सड़कों का निर्माण कराने के लिए दो केंद्रीय मंत्रियों को प्रस्ताव भेजा है। सांसद ने दोनों मंत्रियों से प्रस्ताव की स्वीकृति के साथ बजट जारी करने की अपेक्षा की है। रविवार को आयोजित सांसद जिला विकास समिति की बैठक में सांसद प्रतिनिधि ने ये जानकारी दी।

जिला पंचायत सभागार में रविवार को सांसद जिला विकास समिति की बैठक आयोजित हुई। इसमें सांसद मेनका गांधी के प्रतिनिधि रणजीत कुमार ने समिति सदस्यों के साथ अभी तक कराए गए विकास कार्यों व निर्माणाधीन कार्यों पर चर्चा की। सांसद प्रतिनिधि ने समिति सदस्यों से विधानसभावार कराए जाने वाले कार्यों की सूची पार्टी कार्यकर्ताओं की सलाह पर उपलब्ध कराने को कहा है। 
बताया कि सांसद ने संसदीय क्षेत्र की twenty threeबड़ी व forty two छोटी सड़कों का निर्माण कराने का प्रस्ताव दो केंद्रीय मंत्रियों के पास भेजा है। इन सड़कों के निर्माण की स्वीकृति के साथ ही धनराशि आवंटित होते ही निर्माण शुरू हो जाएगा। बताया कि सांसद का जोर शिक्षा, स्वास्थ्य व विकास पर है। उन्होंने समिति सदस्यों से कराए जा रहे विकास कार्यों पर भी नजर रखने की अपेक्षा की है। 
मीडिया प्रभारी विजय सिंह रघुवंशी ने बताया कि twenty four अगस्त को सांसद मेनका गांधी जिले के दो दिवसीय दौरे पर आएंगी। उनके दौरे को लेकर तैयारी बैठक twenty one अगस्त को पार्टी कार्यालय पर होगी। बैठक में पूर्व जिलाध्यक्ष करुणा शंकर द्विवेदी, पूर्व विधायक अर्जुन सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि शिवकुमार सिंह, प्रवीण अग्रवाल, शशिकांत पांडेय, श्याम बहादुर पांडेय, इंद्रदेव मिश्र आदि मौजूद रहे
 By report
राम भवन प्रजापती













सुल्तानपुर/कुशभवनपुर: सन 1964 में जन्माष्टमी के दिन विश्व हिन्दू परिषद की स्थापना हुई थी. तब से हर साल विहिप इस दिन विशेष आयोजन करता है. इस वर्ष भी 29 अगस्त  के दिन विहिप अपने लक्ष्य हिंदू और हिंदू समाज के विकास को लेकर आत्मचिंतन और आत्ममंथन करेगा। विश्व हिंदू परिषद के विभाग संगठन मंन्त्री उमाकान्त जी ने बताया कि मुख्य अतिथि के रूप में माननीय अम्बरीष जी क्षेत्र संगठन मंत्री विहिप पूर्वी उत्तर प्रदेश का आगमन सुनिश्चित हुआ है।विश्व हिंदू परिषद की स्थापना कब  औऱ क्यो  की गई और विश्व हिंदू परिषद का कार्य क्षेत्र क्या है? इसकी विस्तार से चर्चा और मार्गदर्शन मिलेगा मुख्य अतिथि जी के द्वारा ।
  स्थापना दिवस 29 अगस्त कार्यक्रम की रूपरेखा
कार्यक्रम कि तिथि : 29 अगस्त 2019
कार्यक्रम का समय : 12 बजे दोपहर
कार्यक्रम का स्थान: पंडित राम नरेश सभागार


संक्षिप्त इतिहास:विश्व हिंदू परिषद 

विश्व हिंदू परिषद की स्थापना 1964 में हुई। इसके संस्थापकों में स्वामी चिन्मयानंद, एसएस आप्टे, मास्टर तारा हिंद थे। पहली बार 21 मई 1964 में मुंबई के संदीपनी साधनाशाला में एक सम्मेलन हुआ। सम्मेलन आरएसएस सरसंघचालक माधव सदाशिव गोलवलकर ने बुलाई थी। 
इस सम्मेलन में हिंदू, सिख, जैन और बौद्ध के कई प्रतिनिधि मौजूद थे। सम्मेलन में गोलवलकर ने कहा कि भारत के सभी मताबलंवियों को एकजुट होने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हिंदू हिंदूस्तानियों के लिए प्रयुक्त होने वाला शब्द है और यह धर्मों से ऊपर है।[
संगठन के उद्देश्य और लक्ष्य कुछ इस तरह तय किए गये

  1. हिंदू समाज को मजबूत करना
  2. हिंदू जीवन दर्शन और आध्यात्म की रक्षा, संवर्द्धन और प्रचार
  3. विदेशों में रहनेवाले हिंदुओं से तालमेल रखना, हिंदू और हिंदुत्व की रक्षा के लिए उन्हें संगठित करना और मदद
 ऐसे होगा स्थापना दिवस कार्यक्रम का आयोजन

वीएचपी के स्थापना दिवस के दिन रैली, मशाल जुलूस, प्रभात फेरी, सत्संग जैसे कई समारोह आयोजित किए जाएंगे. इन कार्यक्रमों में गोलवलकर के आदर्शों की भी चर्चा की जाएगी. जम्मू कश्मीर से धारा 370 को खत्म किए जाने का भी इन कार्यक्रमों में जश्न मनाया जाएगा. इस आयोजन में विहिप, बजरंग दल, दुर्गा वाहिनी, हिंदू वाहिनी सेना के केंद्रीय पदाधिकारी, कार्यकर्ता और साधू संत शामिल होंगे.

    शुभम तिवारी 
मीडिया प्रभारी:विहिप

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget