प्रकाश न्यूज़ ऑफ़ इंडिया की वेबसाइट पर पधारने के लिए आपका बहुत- बहुत आभार...लगभग 10 लाख Clicks के साथ हमारी बढ़ती लोकप्रियता में आप सभी पाठकों का अत्यधिक सहयोग है जिसके के लिए आपको साधुवाद... सुलतानपुर जिले में हमारे न्यूज़ बुलेटिन '9 बज गए भइया' को No-1 बनाने के लिए आप सभी का दिल से धन्यवाद...

वित्त मंत्री का किसानों के लिए 1 लाख करोड़ का ऐलान! 

प्रकाश न्यूज़ ऑफ़ इंडिया |PrakashNewsOfIndia.in|
Last Updated: Fri, 15 May 2020; 05:50:00 PM

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण नें आर्थिक पैकेज के तीसरी किस्त की जानकारी दी. कृषि क्षेत्र की मजबूती के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1 लाख करोड़ रुपये की मदद का ऐलान किया है. वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार किसानों की आय दोगुनी करने में जुटी है. सीतारमण ने कहा कि देश की ज्यादातार आबादी खेती से जुड़ी हुई है. लिहाजा उस सेक्टर पर फोकस करना जरूरी है.                   
                 (वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण)                     

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज किसानों को राहत की तीसरी किस्त की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि मधुमक्खी पालन करने वाले किसानों के लिए 500 करोड़ रुपए का पैकेज दिया जा रहा है। हर्बल कल्टीवेशन के लिए 4000 करोड़ रुपए का फंड दिया जा रहा है. नेशनल मेडिसिनल प्लांट्स बोर्ड्स (NMPB)25 लाख हेक्टेयर में इसकी खेती होगी. इससे किसानों को 5000 करोड़ रुपए की आमदनी होगी.
  • पशुपालन में बुनियादी ढांचा सुधारने के लिए विकास फंड बनाने का फैसला किया गया है. देश के कई इलाकों में दूध का उत्पादन ज्यादा होता है वहां प्राइवेट निवेश का भी विकल्प है. इस ढांचे के विकास के लिए 15,000 करोड़ रुपए का फंड दिया जा रहा है.
  • प्रधानमंत्री मतस्य संपदा योजना के लिए 20,000 करोड़ रुपये जारी किए जाएंगे. 11,000 करोड़ रुपये समुद्री और अंतरदेशीय मत्सयपालन, 9000 करोड़ रुपये कोल्ड चेन के लिए ​दिया जाएगा. इससे मछली उत्पादन 70. लाख टन अगले 5 साल में होगा और 55 लाख लोगों को रोजगान मिलेगा.
  • फूड प्रोसेसिंग के लिए 10 हजार करोड़ रुपये का ऐलान- सूक्ष्य, खाद्य संस्करण इकाइयों के लिए 10,000 करोड़ रुपये की योजना है. करीब 2 लाख सूक्ष्य इकाइयों को इसका लाभ मिलेगा. ये योजना कलस्टर आधारित होगी. इसमें स्थानीय कंपनियों को सपोर्ट किया जाएगा. जैसे बिहार का मखाना, यूपी के आम, जम्मू-कश्मीर के केसर जैसे खेती में कलस्टर बनाया जाएगा.
  • आमदनी बढ़ाने के लिए मिलेगा एक लाख करोड़ रुपये - किसान निर्यात में मदद करते हैं लेकिन भंडारण की कमी और संवर्द्धन के लिए 1 लाख करोड़ रुपए का फंड दिया जाएगा. इससे कीमत बढ़ाने में भी मदद मिलेगी और किसानों की आय बढ़ेगी. 1 लाख करोड़ रुपए एग्रीगेटर्स, FPO, फार्मर प्रोड्यूसर को दिए जाएंगे ताकि गोदाम, स्टोरेज सेक्टर बनाने में इस्तेमाल किया जाएगा.

Post a Comment

أحدث أقدم