55 वां स्थापना दिवस पर विहिप ने दिया बडा बयान, कारसेवकों ने राममंदिर बना दिया, अब भव्यता देना बाकी ।



सुल्तानपुर:उत्तर प्रदेश के  सुल्तानपुर स्थित पं राम नरेश त्रिपाठी सभागार  में विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने अपना 55 वां स्थापना दिवस मनाया। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय संगठन मंत्री अम्बरीष जी ने कहा कि 1964 में वीएचपी की स्थापना हुई थी। उन्होंने कहा कि वीएचपी की स्थापना का कारण था देश में सनातन धर्म की स्थापना और राम मंदिर निर्माण।अम्बरीष ने कहा, 'इस लक्ष्य तक पहुंचे बिना हम अपने कर्त्तव्य से पीछे हटने वाले नहीं हैं। वीएचपी राष्ट्र और समाज को एक सूत्र में निरूपित करने के महाअभियान को लेकर चल रही है।

''अस्थाई मंदिर तो कारसेवकों ने बना दिया ,अब भव्यता बाकी' 
अम्बरीष ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि पर कारसेवकों ने अस्थाई तौर पर ही सही मंदिर तो बना ही दिया है, बस उस स्थान को भव्यता देना शेष है। जिसकी प्रतिक्षा हिन्दू समाज लगातार अपनी आहूति देकर करता आ रहा है। आज श्रीराम जन्मभूमि पर विराजमान रामलला को टेंट में देखकर हम सभी को पीड़ा हो रही है। समाज अपने संघर्षों को सदैव स्मरण करेगा और इस महाआंदोलन को तुष्टिकरण की भेंट भी नहीं चढ़ने दिया जाएगा। उन्होंने कहा आज सर्वोच्च न्यायालय में नियमित सुनवाई हो रही है। साक्ष्य श्रीराम लला के पक्ष में हैं। मंदिर निर्माण होकर रहेगा। 

"धारा 370 हटाने" को बताया विस्थापितो की औषधि,"बोला कांग्रेस पर हमला"
अम्बरीषजी ने कहा कि विगत दिनों केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को दफन कर पीड़ित और विस्थापित कश्मीरी पंडितों के घाव में जहां 'औषधि' लगाई, वहीं भारत की एकता अंखडता का सम्मान विश्व में बढ़ाया।इस ऐतिहासिक कार्यो का विरोध वे लोग कर रहे है जिनके पुरखो ने रातो रात इमरजेन्सी लगाकर लोकतन्त्र का कत्लेआम किया।सत्ता का गलत इस्तेमाल किया। इसके दौरान खूब कत्लेआम हुआ। उन्होने बताया कि इनको इन लोगो को आज जब देश के सम्पूर्ण हिस्सो मे एक संविधान एक झंडा की व्यावस्था बन गई है तो वही आज इनको जमूरियत खतरे मे नजर आ रही है। इनको 1990 मे कुछ नही दिखा जब लाखो लोग कश्मीर से अपने घर सम्पत्ति को छोडकर अन्य राज्यो मे शरणार्थियो की तरह जीवन जी रहे थे।आज जब सही मायने मे जमूरियत कि स्थापना हुई, पीड़ित और विस्थापित कश्मीरी पंडितों के घाव में जहां 'औषधि' लगाई, वहीं भारत की एकता अंखडता का सम्मान विश्व में बढ़ाया गया तो इन्हे लोकतंत्र खतरे मे लग रहा है।

 कार्यक्रम का संचालन सोहन लाल ने किया। इस दौरान  शुभनारायन वीएचपी प्रान्त अध्यक्ष काशी प्रान्त, एडवोकेट नागेन्द्र सिह वीएचपी जिला अध्यक्ष, उमाकान्त वीएचपी विभाग संगठन मंन्त्री,आन्नद प्रकाश शुक्ला वीएचपी प्रान्त सुरक्षा प्रमुख, संजय तिवारी, सौरभ पाण्डेय 'मुनी',सुशील सिह ,रमेश दूबे, गोपाल,डा शिव जी,अनुराग उपाध्याय,प्राशान्त गौरव,नरेन्द्र जायसवाल,राजेश्वर सिह समेत सैकडो की संख्या मे हिन्दू जनमानस उपस्थित रहा । उक्त जानकारी विहीप मीडिया प्रभारी शुभम तिवारी ने दी।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget